हंसा तो स्कूल टीचर ने दी सजा, बच्चे ने दे दी जान

स्कुल प्रबंधन की बर्बरता एक बार फिर से सामने आई है। टीचर ने बच्चे को ज्यादा हंसने की ऐसी सजा दी की बच्चे ने मौत को गले लगा लिया। बच्चे के मुस्कुराने पर टीचर ने उसे 350 दंड बैठक लगवा दी। जिसके चलते मासूम ने घर पहुंचकर बाथरूम में फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली। परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इंदौर में एक स्कूल टीचर ने बच्चे की हंसी पर ऐसी रोक लगाई की उसने जानलेवा कदम उठाकर इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। दरअसल, पूरा मामला इंदौर के सदर बाजार थाना क्षेत्र का है जहां ब्रह्मबाग कालोनी में रहने वाले 6 टी कक्षा में पढ़ने वाले छात्र अनुज जैन घर के बाथरूम में सलवार से फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

बताया जा रहा है अनुज जैन इंदौर एमपी पुलिस पब्लिक स्कूल का छात्र था और छात्र बुधवार को कक्षा में दोस्तों के साथ बैठा हुआ था और अचानक हंस दिया इसके बाद टीचर ने उसे हंसी के बदले कड़ी सजा देते हुए 350 बैठक लगवा दी फिर क्या था अनुज जब घर लौटा तो उसने घर के बाथरूम में जाकर बहन की सलवार से फन्दा बनाकर फांसी लगा ली। इसके बाद अनुज के परिजन पहुँचे तो घटना का पता चला और उसे तुरंत इलाज के लिए अरविंदो अस्पताल ले गए लेकिन काफी प्रयासों के बावजूद भी डॉक्टर अनुज को नही बचा सके। 11 साल के अनुज के परिजन अब दोषी टीचर और स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई चाहते है

बताया जा रहा है कि अनुज के पिता हेमंत कार ड्राइवर है। वही अनुज महेश गार्ड लाइन स्थित एमपी पुलिस पब्लिक स्कूल ने पढ़ता था और वो होनहार छात्र था दरअसल, मंगलवार को अनुज अपने मित्र के साथ क्लास में हंस दिया था और इसके बाद उसे 350 बैठक लगवाई गई थी वही अनुज की कॉपी पर सोनल दवे नामक टीचर ने परिजनों से स्कूल में आकर मिलने का नोट भी लिखा था। जिसके बाद से ही अनुज काफी परेशान हो गया था और उसने जानलेवा कदम उठा लिया।वही पुलिस पुरे मामले की जांच की बात कह रही है।

यह पहला मामला नहीं है जब शिक्षक द्वारा बच्चो के साथ दुर्व्यवहार व उनको सजा दी गई हो इससे पहले भी कई मामले समने आ चुके है जिससे परेशांन होकर छात्र मौत को गले लगा चुके है बावजूद इसके स्कूल प्रबंधन के आगे सिस्टम भी लाचार नजर आ रहा है अगर समय रहते ऐसे स्कूलों पर सख्ती से कार्रवाई नहीं की गई तो परिणाम ऐसे ही भयावह सामने आते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *