एन ऑर्डीनरी Life: कभी दिल्ली में वॉचमैन थे नवाजुद्दीन, लेकिन बदली किस्मत और स्टार बन गए

ठेठ भारतीय गाँव से मायानगरी मुम्बई में आने और उसके बाद सिनेमा के परदे पर छा जाना महज इत्तेफ़ाक़ नहीं हो सकता है। बल्कि इसके पीछे मेहनत, दूरदर्शी सोच और कभी न टूटने वाला हौसला ही नवाजुद्दीन सिद्द्की के काम आया। एक मामूली देहाती लड़के से सिनेमा के परदे पर एक सितारा छवि हासिल करने वाले नवाजुद्दीन सिद्द्की पर जल्द ही एक किताब प्रकाशित हो रही है। इस किताब नवाजुद्दीन सिद्द्की के कड़े संघर्ष को गहराई से उकेरा गया है। इस किताब को नवाजउद्दीन ने लेखक एवं पत्रकार रितुपर्णा चटर्जी के साथ मिल कर लिखा है।

Prev1 of 3Next Page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *