योग करने के 10 चमत्कारी फायदें शायद आप नहीं जानते होंगे

योग भारतीय संस्कृति, सभ्यता और हमारे ऋषि मुनियों का दिया एक ऐसा उपहार है जो आज के आधुनिक जीवन में अत्यंत आवश्यक हो जाता है.योग के बलबूते पर ही भारत लम्बे समय तक विश्व गुरु रहा है.आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि योग क्या होता है? योग करने के क्या क्या फायदे होते  हैं? योग को पूरी तरह जानने और समझने से पूर्व यह जानना बेहद जरुरी हो जाता है कि योग से स्वस्थ मन एवं शरीर के साथ अनेक आध्यात्मिक लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं. योग आपको वजन में कमी,एक मजबूत एवं लचीला शरीर, सुन्दर चमकती त्वचा, शांतिपूर्ण मन,अच्छा स्वास्थ्य तो देता ही है साथ ही यह आपको अवसाद से दूर रखने का काम भी करता है.साथ ही योग हमें शारीरिक,मानसिक रूप से तथा श्वसन में लाभ देता प्रदान करता हैं.यही वजह है कि जब आप सुन्दर विचारो के संग होते हैं तो जीवन यात्रा शांति, ख़ुशी और अधिक ऊर्जा से भरी होती हैं.जो आपके काम करने की ऊर्जा को बढ़ा देती है.तो आइये जानते हैं योग क्या है? योग के फायदे क्या है?
  योग क्या है ?
बता दें कि योग शब्द संस्कृत की ‘युज’ धातु से बना है. वास्तव में जिसका अर्थ जोड़ना यानि शरीर, मन और आत्मा को एक सूत्र में जोड़ना है. योग के महान ग्रन्थ ‘पतंजलि योग दर्शन’ में योग को कुछ यूँ परिभाषित किया गया है-
“ योगश्च चित्तवृत्ति निरोध “
यानि मन की वृत्तियों पर नियंत्रण करना ही योग है.
इसी तरह गीता में कहा गया है – ”योग: कर्मसु कौशलम.”
यानि कर्मों में कौशल या दक्षता ही योग है.
तो आइये जानते हैं योग के फायदे-
1) कई शोध और रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी हैं कि योग का प्रयोग शारीरिक, मानसिक और आध्यत्मिक लाभों के लिए कई युगों से होता रहा है. इस वजह से योग आज भी प्रासंगिक है.यह आज भी मानवजाति के लिए वरदान है.
2) कई लोग खुद को सेहतमंद रखने के लिए जिम या व्यायाम का सहारा लेते हैं.लेकिन आपको बता दें कि जिम आदि से शरीर के किसी खास अंग का ही व्यायाम होता है. वहीं योग से बॉडी के समस्त अंग प्रत्यंगों, ग्रंथियों का व्यायाम होता है जिससे अंग प्रत्यंग सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं.लिहाज़ा शरीर के साथ मन भी हैल्दी रहता है.
3) योग तन, मन और सौंदर्य के लिए बेहद फायदे मंद होता है.इससे रोगों से लड़ने की शक्ति बढती है. योग के सहारे आप बुढ़ापे में भी जवान बने रह सकते हैं. इससे त्वचा पर चमक आती है और शरीर स्वस्थ, निरोग और ताकतवर बनता है.
4) योग मांस पेशियों को पुष्टता प्रदान करते हैं जिससे दुबला पतला व्यक्ति भी ताकतवर और बलवान बन जाता है. दूसरी ओर योग के नित्य अभ्यास से शरीर से फैट कम भी हो जाता है.जिससे आपका सौंदर्य अपने आप निखरने लगता है.
5) योग के नित्य अभ्यास से मांसपेशियों का अच्छा व्यायाम हो जाता है. इस वजह से यह दूर करता है, अच्छी नींद आती है, भूख अच्छी लगती है, पाचन सही रहता है और इंसान हैल्दी रहता है.
6) योग के अंग प्राणायाम एवं ध्यान भी योगासनों की तरह बॉडी के लाभदायक हैं. प्राणायाम से श्वास-प्रश्वास की गति पर नियंत्रण होती है. इस वजह से श्वसन सम्बन्धित डिसीज में फायदा मिलता है. यह दमा, एलर्जी, साइनोसाइटिस, पुराना नजला, जुकाम आदि रोगों में तो लाभदायक है.इससे फेफड़ों की ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता में इजाफा होता है.
7) योग का एक अहम हिस्सा है -ध्यान. ध्यान यानि मेडिटेशन का प्रचार हमारे देश से भी ज्यादा विदेशों में हो रहा है.बता दें कि नई संस्कृति में दिन रात भाग दौड़, काम का दबाव, रिश्तों में अविश्वास जैसे कारणों से तनाव बहुत बढ़ गया है.ऐसे समय में मेडिटेशन से बेहतर और कुछ नहीं है.यह मानसिक तनाव दूर करता है और गहन आत्मिक शांति देता है.इससे कार्य शक्ति बढ़ती है,नींद अच्छी आती है और मन की एकाग्रता में इजाफा होता है.
 8) योग के जरिये ब्लड शुगर का लेवल घटता है.साथ ही यह बैड कोलेस्ट्रोल को भी कम करता है.जो कि डायबिटीज रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है.
9) रिसर्च के मुताबिक कुछ योगासनो और मैडिटेशन के द्वारा आर्थराइटिस, बैक पेन आदि दर्द में काफी सुधार होता है.
10) साथ ही योग बॉडी की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. बहुत सी स्टडीज में साबित हो चुका है कि अस्थमा , हाई ब्लड प्रेशर , टाइप-2 डायबिटीज के मरीज योग के जरिये पूरी तरह ठीक हो चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *