क्या आपको भी है किडनी स्टोन? तो भूलकर भी न करें ये गलती 

किडनी हमारी बॉडी का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट होता है। किडनी की अहमियत का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह ब्लड फ़िल्टर का काम करती है और इसके बगैर इंसान का जीना मुश्किल है। किडनी की समस्या और प्रोब्लेम्स की वजह से कई बार इंसान की जान पर बन आती है। दरअसल किडनी यूँ तो हमारे शरीर का महत्वपूर्ण होने के साथ ही मजबूत होता है लेकिन हमारी कुछ गलतियों के कारण कई बार हम किडनी की समस्याओं से जूझ जाते हैं। ऐसे में अगर आप हैल्दी रहना चाहते हैं तो हमें अपनी किडनी को सुरक्षित रखना बेहद आवश्यक हो जाता है। किडनी को किसी भी तरह की प्रॉब्लम से कैसे बचाये यह जानने से पहले यह बता दें कि किडनियों का जोड़ा पीठ के मध्य भाग में पसलियों के ठीक नीचे मौजूद होता है। इनका आकर हमारी मुट्ठी के बराबर होता है और यह राजमा जैसे दिखाई देती है।
किडनी स्टोन क्या है?
जब किडनी ब्लड को फ़िल्टर करती है तो उसमें से सोडियम और कैल्शियम समेत कई दूसरे मिनरल्स के अवशेष छोटे छोटे कणों के रूप में निकल कर यूरेटर के माध्यम से ब्लैडर तक पहुंचते हैं। इसके बाद यह अवशेष यूरिन के साथ हमारी बॉडी से बाहर निकल जाते हैं। कई बार जब हमारे ब्लड में इन तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है तो ये किडनी में जमा होने लगते हैं और रेत के कणों या पत्थर के टुकडों जैसा आकार ग्रहण कर लेते है। इससे ब्लैडर तक यूरिन पहुंचने के रास्ते में रुकावट आती है।
कैसे पता करें की आपकी किडनी खराब है? 
किडनी जब ख़राब होती है तो इसके लक्षण हमारी बॉडी में साफ़ दिखाई देने लगते हैं। कई बार इसे लोग नज़र अंदाज़ कर देते हैं। लेकिन यदि पेट में तेज दर्द, बार-बार शौचालय जाना, पेशाब करते वक्त हल्का दर्द होना, पेशाब के साथ ब्लड का आना, कंपकंपी के साथ बुखार, भूख न लगना और जी मिचलाना किडनी खराब होने के प्रमुख लक्षण हैं।
किडनी स्टोन से कैसे बचें? 
किडनी स्टोन दवा से सही हो जाती है लेकिन कई बार समस्या दवासे भी सही होने का नाम नहीं लेती। ऐसा किडनी में कैल्शियम की मात्रा अधिक होना है। जिसके कारण स्टोन मजबूत हो जाते हैं। इसके चलते सर्जरी की जरूरत आवश्यक हो जाती है। हालांकि, सर्जरी के अलावा लैप्रोस्कोपी, यूरेट्रोस्कोपी जैसी कई तरह की नई तकनीको के जरिये स्टोन को आसानी से बाहर निकाला जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *