आम आदमी की जेब पर डाका डाल रही है सब्जियों की बढ़ती कीमत

 

दिल्‍ली और उत्तर प्रदेश की राजधानी में एक बार फिर से सब्जियों के दामों में तेजी देखने को मिल रही है। टमाटर, आलू और प्याज समेत मटर और अन्य सब्जियों की कीमतों में करीब 30-40 रुपये तक की तेजी देखी गई है। वहीं कभी 40 रुपये में मिलने वाली गोभी 100 रुपये तक जा पहुंची है। लिहाजा ग्राहकों की जेब पर एक बार फिर से सब्जी लात मार रही है। दिल्‍ली-एनसीआर की ही यदि बात करें तो सब्जियों के दाम में तेजी मध्यम वर्ग को परेशान करने लगी है। टमाटर और प्याज के दाम में बढ़ोतरी तो रुलाने को आतुर है। कुछ ही दिनों में खुदरा बाजार में प्याज जहां 50 रुपये किलो तक पहुंच गया है, वहीं टमाटर भी 80 रुपये प्रति किलो की दर को छूने लगा है। खरीदारों के मुताबिक सर्दियों में सब्जियों के दाम कम होते हैं, लेकिन इस वक्त इनके बढ़े दाम चौंकाने वाले हैं।

हरी मटर 100 रुपये किलो तो गोभी 80 रुपये प्रति किलो तक में मिल रही है। यही हाल अन्य सब्जियों का भी है। थोक मंडी आजादपुर में भी सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी हुई है। आढ़तियों के मुताबिक दिल्ली में टमाटर दक्षिण के राज्यों से आ रहा है, जहां बारिश हो रही है। ऐसे में यह बढ़ोत्तरी आगे भी जारी रह सकती है। आजादपुर से सब्जियां दिल्ली के खुदरा मंडियों और कालोनियों तक में पहुंचती हैं। हालात यह है कि खुदरा बाजार तक पहुंचने में सब्जियों के दाम करीब दोगुने हो जाते हैं। जुलाई-अगस्त में भी खुदरा बाजार में टमाटर 100 रुपये प्रतिकिलो के पार चला गया था।

टमाटर व प्याज की लगातार बढ़ रही कीमत के पीछे कारोबारियों द्वारा जमाखोरी को भी बड़ा कारण माना जा रहा है। इसे देखते हुए सरकार ने जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का फैसला लिया है। सरकार ने दिल्ली में प्याज व टमाटर की स्थिति की समीक्षा की। इसकी जांच खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी करेंगे। इसके अलावा स्थानीय थाना अध्यक्ष को भी इन जांच टीमों के लिए सहयोग उपलब्ध कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *