ISRO ने रचा इतिहास, अपना 100वां सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा, पाकिस्तान को हुई चिंता

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने इतिहास रचते हुए अपने 100वें उपग्रह का अंतरिक्ष में भेजा है। उपग्रह को चेन्नई से 110 किलोमीटर दूर स्थित श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से भेजा गया है। इस उपग्रह के साथ 30 अन्य उपग्रह भी अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किए गए।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसरो ने अपने इस 42वें मिशन के लिए पीएसएलवी-सी 40 को अंतरिक्ष में भेजा है। जिसने कार्टोसेट-2 श्रृंखला के उपग्रह और 30 सह-यात्रियों (जिनका कुल वजन करीब 613 किलोग्राम है) को लेकर सुबह 9 बजकर 28 मिनट पर उड़ान भरी।


इसे भेजने की तैयारी गुरुवार सुबह पांच बजकर 29 मिनट (भारतीय समयानुसार) पर शुरू हो गई थी। हरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से इस 44.4 मीटर लंबे रॉकेट का प्रक्षेपित किया गया। इसके सह-यात्री उपग्रहों में भारत का एक माइक्रो और एक नैनो उपग्रह शामिल है, जबकि छह अन्य देशों – कनाडा, फिनलैंड, फ्रांस, कोरिया, ब्रिटेन और अमेरिका के तीन माइक्रो और 25 नैनो उपग्रह शामिल किए जा रहे हैं।

बता दें कि इसरो और एंट्रिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड के बीच हुए व्यापारिक समझौतों के तहत इन 28 अंतरराष्ट्रीय उपग्रहों को प्रक्षेपित किया गया। यह 100वां उपग्रह कार्टोसेट -2 श्रृंखला का तीसरा उपग्रह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *