नहीं रही 500 किलो वजनी इमान अहमद अब्दुलाती, ऐसी है संघर्ष की कहानी

 

 

दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद अब्दुलाती का अबूधाबी के अस्पताल में निधन हो गया है। मिश्रा निवासी इस महिला का इलाज मुंबई के सैफी अस्पताल में भी हुआ था, लेकिन कुछ दिन बाद ही उन्हें अबुधाबी ले जाया गया था। इमान मुंबई में एडमिट थे तब उनका वजन 500 किलो था। वे पिछले 25 साल से अलेक्जेंड्रिया स्थित अपने घर से बाहर नहीं निकली थीं।

अपने भारी भरकम शरीर की वजह से इमान अपना खुद का काम भी नहीं कर पाती थी। वे भोजन करने, कपड़े बदलने और साफ-सफाई समेत अन्य दैनिक कार्यों के लिए वह अपनी मां और बहन चायमा अब्दुलाती पर निर्भर थीं। अल अरबिया के मुताबिक इमान का जन्म के समय ही वजन असामान्य था।
डॉक्टरों का कहना था कि वे एलिफेंटाइसिस से पीड़ित थी। यह एक परजीवी संक्रमण है, जिसमें पिंडलियों में काफी सूजन आ जाती है। साथ ही डॉक्टरों ने यह भी बताया कि ग्लैंड्स (ग्रंथियों) में गड़बड़ी के चलते उसके शरीर में जरूरत से ज्यादा पानी जमा हो जाता है। इस वजह से उनका वजन काफी ज्यादा था।

11 साल की उम्र में बड़ा वजन
इमान के बारे में कहा जा है कि जब वे छोटी थी उनका वजन बड़ा था लेकिन वे अपने हाथों के सहारे इधर-उधर घूम-फिर लेती थी। हालाँकि 11 साल की उम्र होते-होते वह अपने भारी वजन के कारण खड़ी नहीं हो पाती थी। वो घर में महज थोड़ा बहुत खिसक लेती थी लेकिन घूम फिर नहीं पाती थी। लेकिन सेरेब्रल स्ट्रोक होने के बाद उसे प्राइमरी स्कूल छोड़ना पड़ा और वह पूरी तरह से बिस्तर पर रहने लगी। गौरतलब है कि मुंबई में उपचार के दौरान उनका वजन 250 किलोग्राम कम होने की बात भी सामने आई थी, लेकिन उनकी सिस्टर ने डॉक्टरों पर आरोप लगाया था कि उनकी बहन के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है। इसके बाद उन्हें अबुधाबी एडमिट कराया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *